परमात्मा स्तर तक पहुंचना योग–साधना द्वारा ही संभव है।

योग के बिना आत्मा को परमात्मा से जोड़ा नहीं जा सकता और जब तक ईश्वरीय समर्थन-सहयोग प्राप्त ण हो तब तक मानवों की , ऋषि भूमिका में प्रवेश करना कठिन पड़ता है। आत्मा को, देवात्मा बनाते हुए उसे परमात्मा स्तर तक पहुंचा दें, योग–साधना द्वारा ही संभव है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s